मंगलवार, 23 जून 2020

Biography of Manya Surve in Hindi,मन्या सुर्वे की जीवनी हिंदी में?

मन्या सुर्वे की जीवनी हिंदी में उसकी पूरी जानकरी?

मन्या सुर्वे का असली नाम मनोहर अर्जुन सुर्वे था चुकी उनके गैंग के लोग उसे मन्या पुकारते थे इसीलिए पुलिस रिकॉर्ड में भी उनका नाम मन्या सुर्वे ही हो गया वह मुंबई में पैदा हुए थे पर वह पहला पढ़ाई और बढ़ा हुआ मुंबई में ही उसमें मुंबई के कीर्ति कीर्ति कॉलेज से ग्रेजुएशन b.a. किया और जब वह अपराध की दुनिया में आए तो उन्होंने अपने साथ पढ़े अपने कुछ दोस्तों को भी अपने गैंग में शामिल कर लिया मन्या को अपराध की दुनिया में उसका सौतेला भाई भार्गव दादा लाया था भार्गव और उसके दोस्त मन्या पौधा कर के साथ मिलकर मन्या सुर्वे ने सन 1969 में किसी दादर  का मॉडल  किया था।

                 Biography of Manya Surve


इस कत्ल में तीनों गिरफ्तार हुए उन पर मुकदमा चला और तीनों को आजीवन कारावास की सजा सुना दी गई सजा के बाद उन्हें मुंबई नहीं बल्कि पूरे की यरवदा जेल में शिफ्ट कर दिया गया था पर सजा दिए जाने से मन्या सुर्वे सुधरा नहीं बल्कि और खूंखार हो गया उसका यरवदा जेल में ऐसा आतंक हो गया कि वह प्रतिद्वंदी डॉन सुहास भट्ट के छात्रों को वहां पीटने और मारने लगा

 परेशान होकर जेल प्रशासन ने उसे फौरन वहां से हटाने का फैसला किया और फिर रत्नागिरी जेल में भेज दिया नाराज मन्या सुर्वे ने इसके बाद रत्नागिरी जेल में भी भूख हड़ताल कर दी हड़ताल के दौरान वह एक चर्चित विदेशी उपन्यास पढ़ा जिसमें लूट की गई अनूठी  मोड्स आपरेडी लिखी हुई थी।

इसे भी पढ़ें >
◆ Aicte Full Form In Hindi,
◆ Bhawanipur Education Society Collage In Hindi,
◆ School kids in hindi

मन्या सुर्वे का एनकाउंटर उस समय के एसीपी इशाक बागवान ने किया था यह घटना 11 जनवरी 1982 को घटित हुई थी मन्या सुर्वे को धोखे से पकड़कर एसपी इशाद ने मन्या की हत्या कर उसकी हत्या को एनकाउंटर के रूप में दे दिया मनिया की मौत जहां कई लोगों के लिए एक चौका देने वाली खबर थी वहीं कुछ लोगों के लिए राहत देने वाली खबर बन गई थी उस राहत और सुकून की सांस लेने वालों में से एक नाम दाऊद भी था जिसके बड़े भाई समीर इब्राहिम को मन्या ने सरेआम गोली मार दी थी और खुद दाऊद भी कई बार मन्या की गोलियों का शिकार होते-होते बचा है।

मन्या सुर्वे का जीवन परिचय।

 नाम :  मोहन अर्जुन सुर्वे
जन्म : 8 अगस्त 1944 ( रत्नागिरी जिला )
शिक्षा : कीर्ति कॉलेज ( मुंबई )
मृत्यु : 11 जनवरी 1982 (  वडाला मुंबई )
भाई बहन : भार्गव दादा

मन्या सुर्वे कौन था?

वह एक ऐसा डोंट है जिसने मुंबई जिसने मुंबई मुंबई मुंबई के अंडरवर्ल्ड को प्रभावित किया उस समय वह अपने शैतानी साहस और रणनीति योजनाओं के लिए जाना जाता था मान्य सुर्वे कीर्ति कॉलेज से ग्रेजुएट था और जब उन्होंने कॉलेज में छात्रों के साथ एक गैंग बनाया था तो उन्हें परीक्षा में 78% अंक मिले मिले यह मुंबई में पहला शिक्षित हिंदू गैंगस्टर था।

 मन्या सुर्वे अपनी साहसी और रणनीति योजना के लिए जाने जाते थे एक युवा और कृति कॉलेज के स्नातक के रूप के रूप में मान्य सुर्वे को एक हत्या में फसाया गया था जो उन्होंने नहीं किया था और यरवदा जेल में कैद की सजा सुनाई गई थी

यह भी माना जाता है कि मन्या सुर्वे उस दौरान दाऊद से कई गुना ज्यादा ताकतवर था मन्या की मौत दाऊद के लिए फायदेमंद थी और आगे बढ़ने के लिए बेहद जरूरी भी मन्या के एनकाउंटर ने दाऊद और पाकिस्तान समर्थक अफगान माफियाओं को मुंबई पर हावी होने का मौका दे दिया मन्या के डर से जो अफगानी गैंगस्टर चूहे जैसे बिल में छुपे हुए थे वह अब खुल के सक्रिय हो गए जिसकी परिणति मुंबई धम धमाके 1992 के रूप में सामने आई।

मुंबई अंडरवर्ल्ड

उस समय के सबसे प्रसिद्ध पठान डॉन को पूरी तरह से भयभीत कर दिया गया था जो पिछले दो दशकों से मुंबई अंडरवर्ल्ड पर राज कर रहे थे लेकिन पठान ने भी अपने विरोधी गैंग केसर ग्रुप को पराजित करने के लिए मन्या सुर्वे की सहायता ली थी इस गैंग का नेतृत्व दाऊद इब्राहिम का बड़ा भाई समीर कर रहा था मन्या की सफलता का यही सब से सुलझा हुआ राज्य था उस समय शहर की सबसे मशहूर गैंग भी उस से सहायता लेने के लिए आती थी और ऐसा करते हुए वह दूसरों को खत्म कर देता था यह मुंबई के उन अंडरवर्ल्ड का पहला पढ़ा-लिखा हिंदू गैंगस्टर था जिसका दांत के आगरा बाजार में सम्मान किया जाता था

मुंबई आने के बाद सूर्य ने गैंग बनाना शुरू की और अपने दो भरोसे दार साथी धारावी के शेख मुनीर और डोंबिवली के विष्णु पाटिल के साथ एक सशक्त गैंग का निर्माण किया मार्च 1980 में उनकी कैन में एक और गैंगस्टर उदय भी शामिल हो गया।

इस गैंग ने अपनी पहली डकैती 5 अप्रैल 1980 को जिसमें उन्होंने एंबेस्डर कार चोरी की बाद में पता चला कि इसी गाड़ी का उपयोग करी रोड पर लक्ष्मी ट्रेडिंग कंपनी में 5700 रुपए लूटने के लिए किया गया था 15 अप्रैल को उन्होंने सामूहिक रूप से हमला किया और शेख मुनीर के दुश्मन शेख अजीज को मार दिया 30 अप्रैल को अपने सामूहिक विरोधी विजय घाट का दादर के पुलिस स्टेशन में मार्ग लक्षण करते समय उन्होंने पुलिस कॉन्स्टेबल पर छुरा भी घूम कर मार दिया।

जेल में चलता था मान्य का सिक्का का सिक्का।

पूरे की यरवदा जेल में मान्य का दबदबा बढ़ने लगा और वह पहले से ज्यादा खूंखार हो गया वह अक्सर जेल में दूसरे गैंग के बदमाशों को पीटा था जेल में मन्या ने कई मशहूर विदेशी नावेल पड़े और क्राइम की कई अनूठी मॉडल्स ऑपरेटिंग क्राइम का तरीका सीख लिया इसके बाद उसे रत्नागिरी जेल में शिफ्ट कर दिया गया लेकिन वहां उसने भूख हड़ताल कर दी तबीयत बिगड़ने पर उसे हॉस्पिटल भेजा गया जहां 14 नवंबर 1979 को पुलिस को चकमा देकर मान्य फरार हो गया इसके बाद फिर मुंबई आया और नए सिरे से गैंग की शुरुआत की।

                   सबसे बेस्ट New जानकारिया ?
            All Full Form and सभी जानकारिया


कैसे ग्रेजुएट से गैंगस्टर बना मन्या मन्या मन्या।

मन्या सुर्वे का असली नाम मनोहर अर्जुन सर्वथा चुकी ज्ञान की साथी उसे मन्या पुकारते थे इसलिए पुलिस रिकॉर्ड में भी उसका नाम मन्या सुर्वे दर्ज हो गया उसकी परवरिश मुंबई में हुई थी मुंबई के कीर्ति कॉलेज से उसने ग्रेजुएट किया था और जब वह अपराध की दुनिया में आया तो उसने अपने साथ दो पड़े दोस्तों को भी गेम में शामिल कर लिया मान्या को अपराध की दुनिया में लाने वाला उसका सौतेला भाई भार्गव दादा था उस वक्त भार्गव की मुंबई के दादर इलाके में खासी दहशत थी मान्य सुर्वे ने साल 1969 में किसे दा देकर देकर का मॉडल किया और उम्र कैद की सजा की सजा पाकर यरवदा जेल चला गया।

मन्या सुर्वे पर फिल्में पर फिल्में

फिल्म अग्निपथ ( 1990 फिल्म )  और  अग्नीपथ ( 2012 फिल्म ) मैं अमिताभ बच्चन और रितिक रोशन ने जिस विजय नाथ चोवहाडा का रोल किया है वह किरदार किसी और पर नहीं बल्कि मन्या सुर्वे पर ही केंद्रित था

संजय गुप्ता द्वारा निर्मित और निर्देशित 2013 की बॉलीवुड क्राइम थिलार फिल्म सूट आउट एंड वडाला मन्या सुर्वे के जीवन पर आधारित है जिसमें की जॉन इब्राहिम मन्या सुर्वे की भूमिका में है भूमिका में है।

निष्कर्ष

हेलो फ्रेंड मैं उम्मीद करता हूं कि आप सभी को मेरा यह पोस्ट मन्या सुर्वे का जीवनी पसंद आया होगा व्हेन मैंने आप सभी को मन्या आप सभी को मन्या सुर्वे के बारे में कुछ खास जानकारियां ऊपर में बताई बताई बताई है अगर आप उनके बारे में ज्यादा से ज्यादा जानकारी प्राप्त करना चाहते हैं तो मेरी इस पोस्ट को ध्यान पूर्वक लास्ट तक पढ़े हैं हैं लास्ट तक पढ़े हैं पूर्वक लास्ट तक पढ़े हैं हैं तभी आप मन्या सुर्वे के बारे में समझ पाएंगे।

फ्रेंड आप सभी को अगर मेरा यह पोस्ट अच्छा लगा हो तो प्लीज मुझे कमेंट करें और इसे अपने दोस्तों में भी शेयर करें ताकि वह भी मन्या सुर्वे सुर्वे के बारे में ज्यादा से ज्यादा जानकारी प्राप्त कर सके अगर उनसे कोई इस टॉपिक पर कुछ पूछता है तो वह बेहिचक उन्हें बता सकते हैं फ्रेंड अगर आपके मन में किसी प्रकार का कोई भी प्रश्न है तो आप  मेरे साथ सोशल मीडिया द्वारा भी जुड़ सकते हैं और अपने प्रश्नों के जवाब जल्द से जल्द पा सकते हैं।
Disqus Comments